नेता प्रतिपक्षः फिलहाल तो प्रीतम ही सबसे दमदार

Dhun Pahad Ki

 

कांग्रेस के भीतर नेता प्रतिपक्ष के चयन कोे लेकर उठा हुआ है तूूफान

-उत्तराखंड विधानसभा की चुनाव में शिकस्त के बावजूद कांग्रेस की गुटबाजी पर कोई असर नहीं है। गलतियों से सबक सीखकर आगे बढ़ने का पार्टी कोई इरादा जाहिर नहीं कर रही है। यही वजह है कि देर करने के बावजूद पुष्कर सिंह धामी सरकार के मंत्रियों के पोर्टफोलियो बंट गए, लेकिन कांग्रेस के नेता प्रतिपक्ष का चयन नहीं हो पाया। विधानसभा के चालू सत्र में कांग्रेस के 19 विधायकों की मौजूदगी तो दिख रही है, लेकिन नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी खाली है। इस पद के लिए चल रही रस्साकशी के बावजूद प्रीतम सिंह सबसे दमदार नेता केे तौर पर उभर रहे हैं। पिछली विधानसभा के आखिरी दौर में प्रीतम सिंह ही कांग्रेस की तरफ से सदन में नेता थे। इंदिरा ह्दयेश की मौत के बाद उन्हें प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी से हटाकर नेता प्रतिपक्ष बना दिया गया था। दिलचस्प बात देखिए, तब अध्यक्ष की कुर्सी से हटकर नेता प्रतिपक्ष बनने के प्रीतम मूड में नहीं थे, लेकिन हरीश रावत गुट के दबाव में यह काम हो गया। आज प्रीतम नेता प्रतिपक्ष बनने के लिए सहर्ष तैयार हैं, कोशिश भी कर रहे हैं, तो हरीश रावत गुट उनकी राह में अड़चन खड़ी कर रहा है।
नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी के लिए उन यशपाल आर्य का नाम भी दौड़ में बना हुआ है, जो कि चुनाव से पहले ही घर वापस आए थे। इसके अलावा, राजेंद्र भंडारी, भुवन कापड़ी, तिलकराज बेहड, हरीश धामी जैसे कई नाम उछल रहे हैं। फैसला करने का अधिकार हाईकमान के पास है। माना यही जा रहा है कि देर से ही सही, फैसला प्रीतम सिंह के हक में ही आएगा। बाकी, हाईकमान क्या सोच रहा है, ये किसी को पता नहीं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

On the https://quickhits-slot.online/wheres-the-gold-slot-review/ internet Slot Game

Posts Totally free Ports No Download Enjoy five hundred+ 100 % free Harbors Enjoyment Vegas Journey: Gaming On the Renting A vehicle Otherwise Riding Your How to locate Your preferred Slots The Slots video game within this web site isn’t any install and just wager enjoyable. This isn’t an internet […]

Subscribe US Now