चुनाव से नहीं जुड़ेंगे एक ही जिले में तीन साल से तैनात अफसर, पांच राज्यों को EC का दिशा-निर्देश

Dhun Pahad Ki

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब सहित पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव भले ही अगले साल होने हैं, लेकिन चुनाव आयोग अभी से सक्रिय हो गया है। आयोग ने गुरुवार को इन सभी राज्यों में अधिकारियों के स्थानांतरण व तैनाती को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए। इसमें कहा है कि कोई भी ऐसा अधिकारी इन चुनावों में सीधे तौर पर नहीं जुड़ेगा, जो तीन साल से एक ही जिले में तैनात है। आयोग ने इसके दायरे में आने वाले अधिकारियों का ब्योरा भी जारी किया है। साथ ही इसके अमल की रिपोर्ट आयोग को 31 दिसंबर तक उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर के मुख्य सचिवों को दिए गए निर्देश में यह भी साफ किया है कि इन तीन वर्षो की गणना कब से की जाएगी। उत्तर प्रदेश में 31 मई, 2022 की अवधि तक इसकी गिनती जाएगी। उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर में 31 मार्च, 2022 तक इस अवधि की गणना की जाएगी। चुनाव की घोषणा से पहले राज्यों में अधिकारियों की तैनाती को लेकर उठने वाले सवालों से पहले ही आयोग ने सभी राज्यों को सतर्क कर दिया है।

आयोग ने यह भी साफ किया है कि राज्य के कौन-कौन अफसर और कर्मचारी इस दायरे में नहीं आते हैं। इनमें राज्य मुख्यालयों में तैनात अधिकारी और कर्मचारी के अलावा डाक्टर, इंजीनियर, प्रिंसिपल, शिक्षक आदि शामिल हैं जो चुनाव कार्य में शामिल नहीं हैं। हालांकि आयोग ने कहा कि इनमें यदि किसी के खिलाफ राजनीतिक आधार पर जुड़ाव रखने की कोई शिकायत मिलती है और जांच में वह सही पाई जाती है तो आयोग के निर्देश पर न सिर्फ स्थानांतरण किया जाएगा, बल्कि उनकी विभागीय स्तर पर कार्रवाई भी प्रस्तावित की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

गोवा पहुंच अमित शाह बोले- BJP बनाएगी पूर्ण बहुमत की सरकार, मनोहर पर्रिकर को किया याद

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुरुवार को गोवा के धारबंदोरा में राष्ट्रीय फोरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय (एनएफएसयू) की आधारशिला रखी। कार्यक्रम में बोलते हुए शाह ने गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को याद किया और कहा कि उन्होंने राज्य को उसकी पहचान दी। साथ ही उन्होंने कहा कि गोवा […]

Subscribe US Now