काश, फिल्मी पर्दे पर भी गंूजते महेंद्र कपूर के गढ़वाली गाने

Dhun Pahad Ki

ब्योली फिल्म के लिए महेंद्र कपूर ने गाए थे दो गाने, फिल्म बन न पाई -स्वर्गीय महेंद्र कपूर की आवाज में आपको एक पुराना गाना याद होगा। डोली चलकर दुल्हन ससुराल चली। दुल्हन की विदाई का यह गीत एक अलग तरह का रंग बिखेर जाता है। हिंदी फिल्म डोली के […]

जय बद्री केदारनाथ, चार धाम का प्रतिनिधि गीत

Dhun Pahad Ki

घरजवैं फिल्म के लिए नेगीदा ने अपने खास दोस्त से गंवाया है ये गीत -जय बद्री केदारनाथ, गंगोत्री जय-जय, यमुनोत्री जय-जय, उत्तराखंडी सुपरहिट फिल्म घरजवैं की शुरूआत इसी गाने से होती है। इस फिल्म का बैनर भी बद्री-केदार को ही समर्पित है। फिल्म के निर्माता विशेश्वर दत्त नौटियाल की हार्दिक […]

तेरी सौं का वो सुपरहिट गाना, जिसे पहले कमतर आंका गया

Dhun Pahad Ki

डुकलान के शब्द, मलासी की धुन, नेगी और हिरदा की आवाज ने ढाया बाद में गजब -तेरी सौं फिल्म उत्तराखंड आंदोलन की कहानी है, जिसमें रामपुर तिराहा कांड का काला सच उजागर होता है। आंदोलन की पृष्ठभूमि में एक संुदर प्रेम कथा भी तेरी सौं का हिस्सा है। वर्ष 2003 […]

कांग्रेस के घर में उथल पुथल, नहीं निकला हल

Dhun Pahad Ki

  पार्टी के भीतर विधायकों के असंतोष पर सस्पेंस बरकरार, भाजपा की नजर -कांग्रेस के भीतर अब भी उथल पुथल मची हुई है। पार्टी के विधायकों के असंतोष पर सस्पेंस बरकरार है। विधायकों की जिस बैठक की बात की जा रही थी, उसका अभी कहीं अता-पता नहीं है, लेकिन अंदरखाने […]

नेगी दा जैसा कोई नहीं, अभिनंदन, सैल्यूट नेगी दा !

Dhun Pahad Ki

संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार मिलने पर नेगी दा के समर्थकों में सुकून विपिन बनियाल -नरेंद्र सिंह नेगी यानी अपने नेगी दा, उत्तराखंडी लोक संगीत का ऐसा नाम है, जो आसमान की तरह विशाल और विराट है। नेगी दा जनता के दिलों में राज करते हैं और जनता से सबसे बड़ा […]

उत्तराखंडी संगीत में बह रही-हवा सर सर

Dhun Pahad Ki

राहुल नेत्रा नेगी के पहले वीडियो में पहाड़ की खुशबू, पहाड़ का दर्द -उत्तराखंडी संगीत में इन दिनों एक नई आवाज धूम मचा रही है। हवा के एक ताजे झोंके सरीखी यह आवाज है, जिसका नाम है राहुल नेत्रा नेगी। अपने पहले वीडियो हवा सर सर के जरिये राहुल पहाड़ […]

मन की एक टीस ने उठा दिया भावनाओं का तूफान

Dhun Pahad Ki

  आंचलिक फिल्मों की दिलचस्प कहानी मानवीय संवेदनाओं की सटीक अभिव्यक्ति है मुकेश धस्माना की मेरी प्यारी बोई -उत्तराखंडी सिनेमा के प्रमुख कलाकार, निर्माता-निर्देशक मुकेश धस्माना मंुबई में रहते हैं। रचना संसार में आज भी मशगूूल हैं। 2004 में वह एक गढ़वाली फिल्म लेकर आए। नाम था-मेरी प्यारी बोई। अनिल […]

दस साल बाद आया किसी गढ़वाली फिल्म में पहला होली गीत

Dhun Pahad Ki

-बंटवारू फिल्म में पहली बार सिने पर्दे पर बिखरी होली के रंगों की खुशबू -उमंग और उल्लास से यदि किसी त्यौहार का सबसे ज्यादा और सीधा नाता है, तो वह है होली। अपनी प्रकृति के अनुरूप होली के रंग हमारे जीवन को रंगीन बना देते हैं और रिश्तों में मिठास […]

नेगी दा ने ऐसे दूर की रेखा धस्माना की दिक्कत

Dhun Pahad Ki

-कैरियर के शुरूआती दिनों में नेगी दा ने बढ़ाया रेखा धस्माना मनोबल -जानी मानी लोक गायिका रेखा धस्माना उनियाल ने गोपाल बाबू गोस्वामी, चंद्र सिंह राही, जगदीश बकरोला से लेकर नरेेंद्र सिंह नेगी तक के साथ जोड़ी बनाकर कई हिट गाने दिए हैं। मगर नेगी दा के साथ गाए उनके […]

24 साल के बलदेव राणा बन गए 72 साल के बख्तावर सिंह

Dhun Pahad Ki

आंचलिक फिल्मों की दिलचस्प कहानी -गढ़वाली फिल्म रैबार के साथ कई महत्वपूर्ण और दिलचस्प बातें जुड़ी हैं। मसलन, स्वर कोकिला लता मंगेशकर का एकमात्र गढ़वाली गाना मन भरमैगे, इसी फिल्म से है। इसके अलावा, जसपाल सिंह जैसे नामचीन गायक ने फिल्म के लिए तीन गाने गाए हैं। एक और बात […]

Subscribe US Now